home page

समुद्र में मछली पकड़ने गए मछुआरे को इस मछली ने रातोंरात बना दिया करोड़पति, मार्केट में कीमत जानकर तो मछुआरे की हो गई मौज

पाकिस्तान के कराची शहर में एक मछुआरे ने कहा कि ऊपरवाला जब भी देता है तो छप्पर फाड़कर देता है।
 | 
समुद्र में मछली पकड़ने गए मछुआरे को इस मछली ने रातोंरात बना दिया करोड़पति
   

पाकिस्तान के कराची शहर में एक मछुआरे ने कहा कि ऊपरवाला जब भी देता है तो छप्पर फाड़कर देता है। जिस पाकिस्तानी मछुआरे की बात हो रही है, उसका भाग्य ऐसा बदल गया कि वह एक बार में करोड़पति बन गया। पाकिस्तान के कराची शहर में हाजी बलूच और उसके साथियों की किस्मत बदल गई जब उसके हाथ में सोवा (गोल्डन फिश) लग गया।

अरबी सागर से पकड़ी गई इन मछलियों ने मछुआरों के जीवन को पूरी तरह बदल दिया। वह इन मछलियों को बेचने के बाद एक रात में करोड़पति बन गया। बलूच ने बताया कि नीलामी के दौरान एक मछली लगभग 70 लाख रुपये की कीमत मिली।

बताया कैसे फंसी मछलियां 

मछुआरे ने बताया कि हम कराची के खुले समुद्र में मछली पकड़ रहे थे और आश्चर्यजनक रूप से गोल्डन मछली का बड़ा झुंड मिला। हाजी ने कहा कि वह अपने सात सदस्यों के दल को यह राशि देंगे।  पाकिस्तान फिशरमेन फोक फोरम के मुबारक खान ने कहा कि मछुआरे ने कराची बंदरगाह पर अपनी मछलियों को नीलामी में लगभग 70 मिलियन रुपये में बेचा। ये मछलियां केवल प्रजनन के दौरान तट पर आती हैं। 

जानें गोल्डन फिश की खासियत 

सोवा मछली दुर्लभ और महंगी है। पेट से निकलने वाले पदार्थों में औषधीय गुण होते हैं। मछली से प्राप्त धागे भी सर्जरी में प्रयोग किए जाते हैं।पूर्वी एशियाई देशों में मछली की बहुत मांग है, जिसका वजन आम तौर पर 20 से 40 किलोग्राम होता है और 1.5 मीटर तक बढ़ सकता है। यह भी महत्वपूर्ण है कि सोवा सांस्कृतिक और पारंपरिक है क्योंकि यह स्थानीय दवाओं और व्यंजनों में प्रयोग किया जाता है।
 

हमारा Whatsapp ग्रूप जॉइन करें Join Now