home page

भारत की ये महिला इंसानी कैलकुलेटर के नाम से थी फेमस, बहुत कम लोगों को पता होगा नाम

इंटरनेट पर अक्सर हमें ऐसे वीडियो देखने को मिलते हैं जो हमें चौंका देते हैं। इनमें से कुछ वीडियो ऐसे होते हैं जिनमें लोगों की असाधारण प्रतिभाएं प्रदर्शित होती हैं। हाल ही में एक पुराना ब्लैक एंड व्हाइट वीडियो सोशल मीडिया पर...
 | 
shakuntala-called-as-human-calculator
   

इंटरनेट पर अक्सर हमें ऐसे वीडियो देखने को मिलते हैं जो हमें चौंका देते हैं। इनमें से कुछ वीडियो ऐसे होते हैं जिनमें लोगों की असाधारण प्रतिभाएं प्रदर्शित होती हैं। हाल ही में एक पुराना ब्लैक एंड व्हाइट वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें शकुंतला देवी एक भारतीय महिला को दो बड़ी संख्याओं का गुणा करते हुए दिखाया गया है।

इस वीडियो ने उन्हें 'ह्यूमन कैल्क्यूलेटर' के नाम से विश्वविख्यात कर दिया। शकुंतला देवी का जीवन और उनकी उपलब्धियां हमें यह दिखाती हैं कि प्रतिभा और समर्पण से कोई भी सामाजिक या आर्थिक बाधाओं को पार कर सकता है। उनकी कहानी विश्वास दिलाती है कि मानवीय क्षमताएं असीम हैं और हर व्यक्ति के पास दुनिया को चौंकाने की शक्ति होती है।

शकुंतला देवी की अद्भुत याददाश्त 

शकुंतला देवी का जन्म 4 नवंबर 1939 को बेंगलुरु में हुआ था। उनके पिता एक सर्कस कलाकार थे और शकुंतला ने बचपन से ही गणित में अपनी असाधारण प्रतिभा दिखानी शुरू कर दी थी।

तीन साल की उम्र में ही वह जटिल गणनाएँ करने लगी थीं। जिसने उन्हें बहुत कम उम्र में ही प्रसिद्धि दिलवाई। उनके इस कौशल ने न सिर्फ भारत में बल्कि पूरी दुनिया में उनका नाम रोशन किया।

हमारा Whatsapp ग्रूप जॉइन करें Join Now

1982 का वह ऐतिहासिक वीडियो

वायरल हो रहा यह वीडियो 1982 का है। जिसमें शकुंतला देवी ने दो बहुत बड़ी संख्याओं का गुणन केवल 28 सेकेंड में किया था। इस प्रदर्शन ने उन्हें गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में भी जगह दिलाई थी।

इस वीडियो को इंस्टाग्राम पर 'historyphotographed' अकाउंट पर शेयर किया गया है। जिसे अब तक 15 लाख से अधिक लोग देख चुके हैं।

शकुंतला देवी की विरासत और प्रेरणा

शकुंतला देवी की कहानी न केवल एक महिला की गणितीय प्रतिभा की कहानी है बल्कि यह उन चुनौतियों की भी कहानी है जो उन्होंने अपने समय में सामाजिक बंधनों को तोड़ते हुए पार की थीं।

उनकी यह यात्रा आज भी कई युवा प्रतिभाओं के लिए प्रेरणा का स्रोत है। खासकर उन महिलाओं के लिए जो विज्ञान और गणित के क्षेत्र में अपना करियर बनाने का सपना देखती हैं।