home page

इस देश की जमीन खुदाई में मिला हजारो साल पुराना खजाना, इतनी दौलत को आंखो के सामने देख लोगों को नही हो रहा यकीन

हमारी धरती (Earth) अनेकों रहस्यों (Mysteries) और खजानों (Treasures) को समेटे हुए है, जिनका पता चलना अभी बाकी है। कभी-कभार, खुदाई (Excavation) के दौरान ऐसे अनमोल खजाने मिल जाते हैं...
 | 
Brazil Treasure found (1)

हमारी धरती (Earth) अनेकों रहस्यों (Mysteries) और खजानों (Treasures) को समेटे हुए है, जिनका पता चलना अभी बाकी है। कभी-कभार, खुदाई (Excavation) के दौरान ऐसे अनमोल खजाने मिल जाते हैं, जो हमें हमारे इतिहास (History) के करीब ले जाते हैं।

ऐसा ही एक अद्वितीय खोज (Discovery) दक्षिण अमेरिकी देश ब्राजील (Brazil) में हुई है, जहां हजारों साल पुराने अवशेष (Artifacts) मिले हैं। इनमें 1 लाख से ज्यादा कलाकृतियां (Artworks) शामिल हैं, जिससे शोधकर्ताओं (Researchers) को बहुत सारे नए खजाने मिलने की उम्मीद है।

2019 की वह अद्भुत खोज

ब्राजील की राष्ट्रीय ऐतिहासिक और कलात्मक विरासत संस्थान (National Historical and Artistic Heritage Institute) ने 2019 में एक निर्माण स्थल (Construction Site) से पहले अवशेष की खोज की घोषणा की। इस खोज ने शोधकर्ताओं को इस जगह की गहराई से खुदाई करने की प्रेरणा दी।

तब से लेकर अब तक, 1 लाख के करीब अनमोल कलाकृतियां और 43 कंकाल (Skeletons) मिले हैं, जिन्होंने ब्राजील के तटीय शहर साओ लुइस (Sao Luis) में मानव बस्ती (Human Settlement) के इतिहास को नया आयाम दिया है।

साओ लुइस आइलैंड पर 6 हजार साल पुरानी साइट

इस खोज ने साओ लुइस आइलैंड (Sao Luis Island) पर मानव कब्जे के लंबे इतिहास (Long History) को प्रमाणित किया है। यह साइट, जो 6 हजार साल से भी अधिक पुरानी है, ब्राजील में पारंपरिक ऐतिहासिक रिकॉर्ड्स (Historical Records) से पहले के अतीत को दर्शाती है। यह खोज न केवल इतिहासकारों (Historians) के लिए, बल्कि सम्पूर्ण मानवता (Humanity) के लिए एक महत्वपूर्ण खोज है।

खजाने की खोज जारी

इंस्टीट्यूट ने खुलासा किया है कि इस आइलैंड पर खुदाई अभी भी जारी है। चीनी मिट्टी (Porcelain) और अनमोल धातु (Precious Metal) के बर्तन जैसी बहुमूल्य कलाकृतियों की खोज से शोधकर्ताओं को और भी अधिक खजाने मिलने की आशा है।

इस खोज में आइसोटोपिक विश्लेषण (Isotopic Analysis) का उपयोग किया जा रहा है, जो कलाकृतियों के टुकड़ों को गैस में परिवर्तित कर उनकी संरचना की जांच करेगा।