home page

Today Onion Price: टमाटर की तरह ही औंधे मुंह गिरा प्याज का ताजा भाव, रेट में आई तगड़ी गिरावट तो खरीदारी करने वालों की हुई मौज

भारत में टमाटर की कीमतों में पिछले कुछ दिनों में आई जबरदस्त तेजी ने रसोईघरों का बजट खराब कर दिया है।
 | 
Crisil Report: प्याज को लेकर बड़ी खबर, जानिए कितना और बढ़ सकता है भाव

भारत में टमाटर की कीमतों में पिछले कुछ दिनों में आई जबरदस्त तेजी ने रसोईघरों का बजट खराब कर दिया है। नवरात्रि पर्व के बाद से टमाटर की कीमतें कम हुई हैं, लेकिन प्याज की कीमतें फिर से बढ़ने लगी हैं। अक्टूबर के अंत में तो देश के कई शहरों में प्याज का भाव 90 रुपये प्रति किलो तक पहुंच गया था. हालाँकि, सब कुछ वैसा ही है. इस बीच, घरेलू रेटिंग एजेंसी क्रिसिल ने कहा कि फेस्टिव सीजन में प्याज की कीमतें बढ़ जाएंगी।  

प्याज की कीमत बढ़ा सकती है थाली के दाम

PTI की रिपोर्ट के अनुसार, घरेलू रेटिंग एजेंसी क्रिसिल ने सोमवार को कहा कि प्याज की कीमतें 80 रुपये प्रति किलोग्राम से अधिक होने से नवंबर के त्योहारी मौसम में महंगाई बढ़ने वाली है। रिपोर्ट ने कहा कि प्याज की कीमतों में उछाल के चलते सामान्य भोजन की थाली की लागत में इजाफा हो सकता है, जिससे लोगों की जेब की लागत बढ़ सकती है। टमाटर की कीमतें कम होने के बावजूद प्याज की कीमतें बढ़ने से भोजन की थाली की कीमत कम नहीं हुई। 

टमाटर-आलू सस्ते होने से घटी थी कीमत

समाचार एजेंसी ने कहा कि अक्टूबर में प्याज की ऊंची कीमतों ने थाली की कीमतों में गिरावट को रोक दिया, क्योंकि राजनीतिक रूप से संवेदनशील वस्तुओं की कीमतें महीने की दूसरी छमाही में तेजी से उछलीं। उसने बताया कि शाकाहारी थाली की कीमत पिछले कुछ समय में टमाटर और आलू की कीमतों में आई कमी के चलते 27.5 रुपये पर आ गई थी, जो साल भर पहले की तुलना में 5% और पिछले सितंबर महीने की तुलना में 1% कम थी। टमाटर की कीमतों में 38% की बड़ी गिरावट हुई है, जबकि आलू की कीमतों में 21% की गिरावट हुई है। वहीं नॉन-वेज थाली की कीमत भी घटी। 

व्यापारियों को क्या है आशंका?

व्यापारियों ने प्याज की कीमतों में लगातार उछाल की आशंका व्यक्त की थी कि ये 100 रुपये प्रति किलो तक पहुंच सकते हैं। हालाँकि, केंद्रीय सरकार ने प्याज पर राहत देने की तैयारी शुरू करते हुए टमाटर की कीमतों में आए उछाल के दौरान की तरह ही योजना बनाई है। वास्तव में, दूसरे राज्यों से प्याज खरीदकर उसे कम दाम पर ग्राहकों को देना और दिल्ली-NCR सहित कई शहरों में सस्ता प्याज बेचना शुरू कर दिया गया है।

इसके अलावा, सरकार ने आनन-फानन में एक और महत्वपूर्ण निर्णय लिया। DGFT ने प्याज का निर्यात मूल्य 800 USD/t घोषित किया है। इस निर्णय से देश में उत्पादित प्याज की कीमत 68 रुपये प्रति किलोग्राम होगी, इससे बाहर कम ही बिक पाएगा। यानी ये प्याज देश भर में अधिक होंगे। 31 दिसंबर 2023 तक नया निर्यात मूल्य लागू रहेगा।

सरकार बेच रही 25 रुपये किलो प्याज

सरकार ने फेस्टिव सीजन में प्याज की महंगाई से लोगों को बचाने के लिए प्याज को रिटेल मार्केट में 25 रुपये प्रति किलोग्राम की दर से बेचना शुरू कर दिया है। भारतीय राष्ट्रीय उपभोक्ता सहकारी संघ (NCCF) और भारतीय राष्ट्रीय कृषि सहकारी विपणन महासंघ (NAFED) दो संस्थाओं के माध्यम से बफर स्टॉक के प्याज को कम कीमत पर बेचा जा रहा है। दिल्ली सहित कई शहर में सस्ता प्याज मिलने लगा है।