home page

Traffic Challan: आपकी गाड़ी का कितने बार कट चुका है चालान, इस तरीके से कर सकते है चेक

वाहन चलाने के साथ ही ट्रैफिक नियमों का पालन करना अनिवार्य है। आजकल ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने पर चालान की प्रक्रिया काफी सख्त हो गई है।
 | 
Air pollution, Noida traffic police, Gautam Budh Nagar, Vehicles challaned under GRAP, Traffic police challan, Delhi traffic police, PUCC, BS3 vehicles, BS4 diesel cars, latest auto news, latest news, Noida, Uttar Pradesh, Yogi Adityanath, viral, trending,Air pollution,
   

वाहन चलाने के साथ ही ट्रैफिक नियमों का पालन करना अनिवार्य है। आजकल ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने पर चालान की प्रक्रिया काफी सख्त हो गई है। लेकिन कई बार लोगों को यह तक पता नहीं चलता कि उनका चालान कट चुका है। 

चालान कटने का प्रोसेस 

पहले केवल ट्रैफिक पुलिस ही चालान काटा करती थी, लेकिन अब तकनीकी प्रगति के साथ सड़कों पर लगे कैमरे भी चालान काटने में सहायक हो गए हैं। यह कैमरे न केवल ओवरस्पीडिंग को पकड़ते हैं बल्कि सिग्नल तोड़ने गलत दिशा में ड्राइव करने जैसे कई प्रकार के उल्लंघनों को भी रिकॉर्ड करते हैं।

चालान की सूचना न मिलने का कारण

अक्सर लोगों को उनके चालान कटने की सूचना नहीं मिलती जिसका मुख्य कारण उनका मोबाइल नंबर आरटीओ के साथ लिंक न होना है। ऐसे में जब तक वे खुद से इसकी जांच नहीं करते तब तक उन्हें चालान की जानकारी नहीं होती।

चालान चेक करने का प्रोसेस 

अगर आप भी अपने चालान के बारे में जानना चाहते हैं, तो आप इसे आसानी से ऑनलाइन चेक कर सकते हैं। बस गूगल पर "ई-चालान" टाइप करें और खुलने वाली ई-चालान वेबसाइट पर जाएं। यहां आपको ड्राइविंग लाइसेंस नंबर, वाहन नंबर, या इंजन नंबर दर्ज करने का विकल्प मिलेगा। आप इनमें से कोई एक विकल्प चुनें और "गेट डिटेल्स" पर क्लिक करें, आपके सामने आपके सभी चालान की जानकारी होगी।

चालान से कैसे बचें?

नियमों का पालन करें: ट्रैफिक नियमों का पालन करना ही चालान से बचने का सबसे अच्छा तरीका है।
वाहन के दस्तावेजों को अपडेट रखें: सुनिश्चित करें कि आपके वाहन के सभी दस्तावेज जैसे कि बीमा, पंजीकरण, और ड्राइविंग लाइसेंस अपडेटेड और वैध हैं।
मोबाइल नंबर अपडेट करें: अपना मोबाइल नंबर आरटीओ के साथ लिंक करें ताकि चालान से संबंधित सूचनाएं आपको समय पर मिल सकें।