home page

UP NEW EXPRESSWAY: UP के इन दो जिलों के बीच 2385 करोड़ की लागत से बनेगा नया एक्सप्रेसवे, इन जिलों की हो जाएगी मौज

भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआइ) ने आगरा के चौथे एक्सप्रेस वे का टेंडर जारी कर दिया। 65 किमी लंबे अलीगढ़-आगरा ग्रीन फील्ड एक्सप्रेस वे का निर्माण 2385 करोड़ रुपये से होगा।
 | 
UP NEW EXPRESSWAY

भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआइ) ने आगरा के चौथे एक्सप्रेस वे का टेंडर जारी कर दिया। 65 किमी लंबे अलीगढ़-आगरा ग्रीन फील्ड एक्सप्रेस वे का निर्माण 2385 करोड़ रुपये से होगा। छह लेन के लिए आगरा, हाथरस और अलीगढ़ के 65 गांवों में 390 हेक्टेयर भूमि का अधिग्रहण होगा लेकिन एक्सप्रेस वे को चार लेन का बनाया जाएगा। नई दिल्ली स्थित एनएचएआइ कार्यालय में 14 फरवरी को टेंडर खुलेगा।

एक घंटे से भी कम लगेगा समय

नया ग्रीन फील्ड एक्सप्रेस वे बनने से आगरा से अलीगढ़ पहुंचने में एक घंटे से कम समय लगेगा। अभी यह दूरी तय करने में ढाई से तीन घंटे का समय लगता है। एनएचएआइ के एक अधिकारी ने बताया कि ग्रीन फील्ड एक्सप्रेस वे आगरा स्थित खंदौली गांव से शुरू होगा।

इसे यमुना एक्सप्रेस वे से जोड़ा जाएगा जबकि अलीगढ़ स्थित नेशनल हाईवे-91 से इसकी शुरुआत होगी। शून्य से 28 किमी लंबा एक्सप्रेस वे 1135 करोड़ रुपये और 29 से 65 किमी का एक्सप्रेस वे 1250 करोड़ रुपये से बनेगा। तीन फ्लाईओवर, एक रेल ओवर ब्रिज और 55 अंडरपास का निर्माण होगा।

छह लेन के लिए भूमि का अधिग्रहण होगा लेकिन चार लेन का एक्सप्रेस वे बनेगा। भविष्य में इसे छह लेन का किया जा सकेगा। बताया कि धारा तीन-ए घोषित हो गया है। इसमें भूमि को अधिग्रहण करने से पहले जानकारी देना शामिल है। 

चार एक्सप्रेस वे वाला आगरा होगा पहला जिला

प्रदेश में आगरा पहला जिला है। जहां चार एक्सप्रेस वे होंगे। सबसे पहले यमुना एक्सप्रेस वे फिर लखनऊ एक्सप्रेस वे, ग्वालियर एक्सप्रेस वे और अलीगढ़ एक्सप्रेस वे शामिल हैं।

उत्तरी बाइपास 

दिल्ली-आगरा नेशनल हाईवे स्थित रैपुरा जाट से उत्तरी बाइपास निकल रहा है। यह यमुना एक्सप्रेस वे को कनेक्ट कनेगा। एनएचएआइ आगरा खंड की टीम इसका निर्माण करा रही है। अभी तक पांच किमी लंबी सड़क बन चुकी है। पुलों का निर्माण तेजी से चल रहा है। फरवरी 2025 तक उत्तरी बाइपास के निर्माण की समय सीमा है।

तीसरे चरण की रोड का निर्माण 

इनर रिंग रोड को तीन चरण में बनाया जा रहा है। देवरी रोड से बाद तक तीसरी चरण की रोड एनएचएआइ आगरा खंड की टीम बना रही है। अब तक 31 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है। मार्च 2025 तक रोड के निर्माण की समय सीमा निर्धारित है।

यह रोड बनने से लखनऊ एक्सप्रेस से ग्वालियर रोड पहुंचना आसान हो जाएगा। आगरा-ग्वालियर ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस वे देवरी गांव के समीप से निकलेगा। तहसील सदर, फतेहाबाद और खेरागढ़ तहसीलों के 15 गांवों की भूमि का अधिग्रहण होगा।

जल्द ही भूमि की दर का भी निर्धारण होगा। किसानों को चार गुना मुआवजा मिलेगा। एक्सप्रेस वे बनने से आगरा से ग्वालियर की दूरी 88 किमी रह जाएगी। इससे एक घंटे में यह दूरी तय की जा सकेगी।