home page

UP News: यूपी में हर फैमिली का बनाया जाएगा ये स्पेशल कार्ड, जनता को होंगे ये बड़े फायदे

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने विधानसभा में एक नवाचारी कदम की घोषणा की, जिसे फैमिली आईडी कार्ड (Family ID Card) कार्यक्रम का नाम दिया गया है। इस पहल का उद्देश्य हर परिवार को एक...
 | 
new-card-will-be-made-for-every-family

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने विधानसभा में एक नवाचारी कदम की घोषणा की, जिसे फैमिली आईडी कार्ड (Family ID Card) कार्यक्रम का नाम दिया गया है। इस पहल का उद्देश्य हर परिवार को एक अद्वितीय पहचान प्रदान करते हुए केंद्र और प्रदेश सरकार की कल्याणकारी योजनाओं (Welfare Schemes) का लाभ सुनिश्चित करना है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के इन पहलों से उत्तर प्रदेश सरकार कल्याणकारी योजनाओं (Welfare Initiatives) के माध्यम से परिवारों के विकास और पर्यटन क्षेत्र में वृद्धि की नई कहानी लिख रही है। फैमिली आईडी कार्ड कार्यक्रम और पर्यटन विकास के ये कदम राज्य के हर नागरिक को समृद्धि और सशक्तिकरण की ओर ले जाने में सहायक साबित होंगे।

परिवारों का डेटाबेस और रोजगार सुनिश्चित करने की दिशा

इस योजना के अंतर्गत, अब तक 6 करोड़ 64 लाख परिवारों के ब्यौरे (Family Details) की फीडिंग की जा चुकी है, जो राज्य के हर परिवार के एक सदस्य को रोजगार (Employment) सुनिश्चित करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।

उत्तर प्रदेश का पर्यटन विकास

मुख्यमंत्री ने उत्तर प्रदेश को पर्यटन (Tourism) के क्षेत्र में अग्रणी बनाने की दिशा में अद्वितीय पहलों की जानकारी दी। अयोध्या, श्रीदेवीपाटन, ब्रज, विंध्य धाम, शुक्रतीर्थ, चित्रकूटधाम, नैमिषारण्य धाम (Pilgrimage Development Boards) जैसे धार्मिक स्थलों के विकास को व्यवस्थित तरीके से आगे बढ़ाने के लिए विकास परिषदों का गठन किया गया है। श्रीकाशी विश्वनाथ धाम कॉरीडोर (Shri Kashi Vishwanath Dham Corridor) के पूरा होने और मां अन्नपूर्णा की प्रतिमा के पुनः प्रतिष्ठापन से धार्मिक पर्यटन को नई गति मिली है।

धार्मिक परिपथों का विकास

रामायण परिपथ, बौद्ध परिपथ, आध्यात्मिक परिपथ, शक्तिपीठ परिपथ, कृष्ण-ब्रज परिपथ, बुंदेलखंड परिपथ, महाभारत परिपथ (Spiritual Circuits) पर काम करके सरकार ने धार्मिक और आध्यात्मिक पर्यटन को एक नई दिशा प्रदान की है। इससे पर्यटन क्षेत्र में रोजगार के अवसर भी बढ़े हैं।