home page

UP Railway Station: यूपी के इस पुराने रेल्वे स्टेशन को मेट्रो रेड लाइन से जोड़ेगी योगी सरकार, इन लोगों को होगा सीधा फायदा

उत्तर प्रदेश सरकार के नवीनतम बजट ने गाजियाबाद में एक बहुप्रतीक्षित परियोजना को नई रफ्तार प्रदान की है। इस परियोजना के अंतर्गत मेट्रो रेड लाइन को रोपवे के जरिए पुराना रेलवे स्टेशन से जोड़ा जाएगा।
 | 
Metro Red Line Ghaziabad

उत्तर प्रदेश सरकार के नवीनतम बजट (Budget) ने गाजियाबाद (Ghaziabad) में एक बहुप्रतीक्षित परियोजना को नई रफ्तार प्रदान की है। इस परियोजना के अंतर्गत मेट्रो रेड लाइन (Metro Red Line) को रोपवे (Ropeway) के जरिए पुराना रेलवे स्टेशन (Old Railway Station) से जोड़ा जाएगा।

जिससे जीटी रोड (GT Road) पर यातायात जाम (Traffic Jam) की समस्या में कमी आने की उम्मीद है। इस प्रोजेक्ट की सफलता से न केवल यात्रा में सुविधा होगी बल्कि शहर के यातायात प्रबंधन में भी सुधार होगा। यूपी सरकार के इस कदम से न केवल गाजियाबाद में यातायात की समस्या का समाधान होगा, बल्कि यह शहरी परिवहन के नए युग की शुरुआत भी होगी।

रोपवे प्रोजेक्ट की सफलता से न केवल यातायात में सुधार होगा, बल्कि यह पर्यावरण के अनुकूल (Eco-friendly) और सुविधाजनक परिवहन का एक आदर्श उदाहरण भी पेश करेगा। इस प्रकार, यूपी सरकार का यह प्रयास गाजियाबाद के विकास और निवासियों की सुविधा के लिए एक महत्वपूर्ण कदम साबित होगा।

रोपवे प्रोजेक्ट के लिए बजट का आवंटन

सरकार ने इस रोपवे प्रोजेक्ट के लिए 100 करोड़ रुपये (100 Crore) की वित्तीय व्यवस्था की है, जिससे इसे नई गति मिलने की आशा है। इस बजटीय आवंटन से न केवल प्रोजेक्ट को आगे बढ़ाने में मदद मिलेगी, बल्कि यह गाजियाबाद के निवासियों के लिए एक बड़ी राहत का कारण भी बनेगा।

गाजियाबाद विकास प्राधिकरण (GDA) की भूमिका

जीडीए ने पहले ही इस प्रोजेक्ट सहित चार रूट्स पर रोपवे चलाने के प्रस्ताव को अपनी बोर्ड मीटिंग (Board Meeting) में मंजूरी दे दी है। हालांकि, मेट्रो रूट के बीच में किसी अन्य परिवहन साधन को जोड़ने के प्रस्ताव पर पहले कुछ आपत्तियां थीं, लेकिन यातायात समस्याओं और यात्री सुविधाओं को देखते हुए इस प्रोजेक्ट को आगे बढ़ाने का निर्णय लिया गया है।

लाभार्थियों की बड़ी संख्या

रेलवे स्टेशन को मेट्रो से जोड़ने का यह प्रोजेक्ट रोजाना 20 हजार से अधिक यात्रियों (Passengers) को लाभान्वित करेगा। इससे जीटी रोड पर ट्रैफिक प्रेशर (Traffic Pressure) कम होगा और दिल्ली के दिलशाद गार्डन (Dilshad Garden), शाहदरा (Shahdara), यूपी बॉर्डर (UP Border) के शालीमार गार्डन (Shalimar Garden), लोनी (Loni), राजेंद्रनगर (Rajendra Nagar), शहीद पार्क (Shaheed Park), मोहननगर (Mohan Nagar), हिंडन एयरबेस (Hindon Airbase) में रहने वाले लोगों को इसका सीधा फायदा मिलेगा।