home page

UP RING ROAD: यूपी इन जिलों में रिंग रोड का जाल बिछाने की चल रही है तैयारीयां, इन जिलों की जमीनों की कीमतों में आएगा उछाल

कानपुर (Kanpur), उत्तर प्रदेश का एक प्रमुख औद्योगिक शहर, अब एक नए विकास की ओर अग्रसर है। केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने 93.20 किमी लंबी आउटर रिंग रोड...
 | 
Union Road Transport Minister Nitin Gadkari

कानपुर (Kanpur), उत्तर प्रदेश का एक प्रमुख औद्योगिक शहर, अब एक नए विकास की ओर अग्रसर है। केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने 93.20 किमी लंबी आउटर रिंग रोड (Outer Ring Road) के शिलान्यास की घोषणा की है।

यह परियोजना कानपुर शहर के चारों तरफ से गुजरेगी, जिससे यातायात (Traffic) की समस्याओं में कमी और शहर के विकास को एक नया आयाम मिलेगा।

आउटर रिंग रोड परियोजना

इस रिंग रोड की विशेषता इसके चार पैकेज (Packages) में पूरी होने की है। दो साल में इसका निर्माण शुरू होकर मार्च 2027 तक संपूर्ण हो जाएगी। इस परियोजना की तैयारियां नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (NHAI) द्वारा शुरू की जा चुकी हैं।

यह रोड कानपुर नगर, कानपुर देहात और उन्नाव (Unnao) जैसे तीन जिलों से होकर गुजरेगी, जो इसे और भी महत्वपूर्ण बनाता है।

निर्माण कार्य की प्रगति

रिंग रोड के दो चरणों - मंधना से सचेंडी और सचेंडी से रमईपुर के बीच का काम पहले ही शुरू हो चुका है। गुजरात की राज कंस्ट्रक्शन कंपनी (Raj Construction Company) इन दोनों फेज के निर्माण कार्य को अंजाम दे रही है।

रमईपुर से गंगा पुल (Ganga Bridge) होते हुए उन्नाव जिले में आटा तक रिंग रोड का निर्माण आवंटित किया जा चुका है, जबकि आटा से मंधना तक के निर्माण कार्य अभी शुरुआती चरण में हैं।

शिलान्यास और उद्घाटन

15 फरवरी को केंद्रीय मंत्री द्वारा कानपुर और उन्नाव में इस आउटर रिंग रोड के शिलान्यास के साथ-साथ रायबरेली-उन्नाव हाईवे (Raebareli-Unnao Highway), चकेरी-प्रयागराज सिक्सलेन (Chakeri-Prayagraj Sixlane)।

कानपुर-अलीगढ़ फोरलेन हाईवे (Kanpur-Aligarh Fourlane Highway) का लोकार्पण (Inauguration) भी किया जाएगा। इससे कानपुर और आसपास के क्षेत्रों के विकास में एक नई गति मिलेगी।

कानपुर के विकास में योगदान

आउटर रिंग रोड परियोजना कानपुर के विकास (Development) में एक बड़ी भूमिका निभाने वाली है। इससे न केवल यातायात की समस्या में कमी आएगी बल्कि शहर के चारों तरफ से व्यापार (Trade), औद्योगिक (Industrial Growth)।

आवासीय (Residential Development) विकास को भी बढ़ावा मिलेगा। इस परियोजना से कानपुर का चेहरा बदलने की उम्मीद है, जो न सिर्फ शहर के नागरिकों के लिए बल्कि पूरे उत्तर प्रदेश के लिए गर्व का विषय होगा।