home page

UP RING ROAD: UP के इन जिलों में रिंगरोड बनाने की तैयारी में है योगी सरकार, इन 31 गांवो की जमीनों की बढ़ सकती है कीमतें

मुरादाबाद (Moradabad) शहर के विकास के पथ पर एक नई कड़ी जुड़ने जा रही है। शहर की रिंग रोड (Ring Road) परियोजना के लिए एक बड़ी बाधा पार कर ली गई है। जिला प्रशासन (District Administration) ने 19...
 | 
UP Ring Road

मुरादाबाद (Moradabad) शहर के विकास के पथ पर एक नई कड़ी जुड़ने जा रही है। शहर की रिंग रोड (Ring Road) परियोजना के लिए एक बड़ी बाधा पार कर ली गई है। जिला प्रशासन (District Administration) ने 19 गांवों के किसानों (Farmers) की जमीन के मुआवजे (Compensation) का अवार्ड जारी कर दिया है।

मुरादाबाद की रिंग रोड परियोजना न केवल यातायात के लिए एक बड़ी राहत प्रदान करेगी बल्कि किसानों को उचित मुआवजा देकर उनके जीवन में भी सुधार लाएगी। इस प्रकार, यह परियोजना शहर के समग्र विकास में एक मील का पत्थर साबित होगी।

मुआवजे की प्रक्रिया में तेजी

इस निर्णय से रिंग रोड के निर्माण कार्य (Construction Work) में तेजी आएगी। यह परियोजना सेरूआ बाईपास (Serua Bypass) से शुरू होकर अगवानपुर (Agwanpur), इस्लाम नगर (Islam Nagar) होते हुए रामपुर रोड (Rampur Road) से मिलेगी। इससे बाहर से आने वाले वाहनों को बिना किसी जाम (Traffic Jam) के सफर करने में सुविधा होगी।

किसानों को मिलेगा उचित मुआवजा

कुल 31 गांवों में से 19 गांवों के लिए रेट निर्धारण (Rate Determination) हो चुका है और किसानों को उनकी जमीन के बदले मुआवजे की राशि जल्द ही मिलने लगेगी। इस प्रक्रिया से जुड़े दादूपुर, गोधी, याकूबपुर, त्रिलोकपुर समेत सात गांवों के लिए पहले चरण में अवार्ड (Award) तैयार किया गया है।

रिंग रोड से जाम से निजात 

33 किमी लंबी इस रिंग रोड का निर्माण दिल्ली रोड (Delhi Road) से कांठ रोड (Kanth Road) और उसके बाद रामपुर रोड को जोड़ने के लिए किया जा रहा है।

इससे न केवल दिल्ली लखनऊ हाईवे (Delhi Lucknow Highway) से गुजरने वाले यात्रियों को लाभ होगा बल्कि हरिद्वार रोड (Haridwar Road) और नैनीताल (Nainital) जाने वाले यात्रियों को भी बाहरी मार्ग से जाने का विकल्प मिलेगा।

विकास की नई दिशा

रिंग रोड का निर्माण मुरादाबाद शहर के विकास में एक बड़ी भूमिका निभाएगा। इस परियोजना से न केवल यातायात में सुधार होगा बल्कि शहर के आसपास के क्षेत्रों का विकास (Development) भी तेजी से होगा।

यह परियोजना न केवल जाम से निजात दिलाएगी बल्कि मुरादाबाद को विकास के नए आयामों तक ले जाने में सहायक होगी।