home page

UP Weather Forecast: उत्तरप्रदेश में सर्दी के साथ बारिश होने के है आसार, मौसम विभाग ने जारी किया येलो अलर्ट

इस सप्ताह, विशेषकर गुरुवार को, अधिकांश इलाकों में सुबह के समय तेज हवाओं (Wind) ने लोगों के जीवन में असुविधा जोड़ दी। इस वजह से, लोग कड़ाके की ठंड (Cold Wave) का सामना कर रहे हैं।
 | 
meteorological-department-issued-yellow-alert

इस सप्ताह, विशेषकर गुरुवार को, अधिकांश इलाकों में सुबह के समय तेज हवाओं (Wind) ने लोगों के जीवन में असुविधा जोड़ दी। इस वजह से, लोग कड़ाके की ठंड (Cold Wave) का सामना कर रहे हैं। पहले बुधवार को भी, प्रदेश के मौसम में आए बदलाव के कारण, उत्तर-पश्चिमी हवाएं (North-Western Winds) चलीं, जिसके चलते शीत लहर (Cold Wave) जारी रही। हिसार जिले में हवा 7.4 किलोमीटर प्रति घंटे (Kilometers per Hour) की रफ्तार से चली, जिससे ठंड में और इजाफा हो गया।

दिन के दौरान, हल्की वर्षा (Light Rain) ने लोगों को कुछ हद तक ठंड से राहत दी। मौसम विभाग (Meteorological Department) ने करनाल जिले में न्यूनतम तापमान 4.2 डिग्री सेल्सियस (Degrees Celsius) दर्ज किया, जो इस सीजन के सबसे कम तापमानों में से एक है।

हिसार में तापमान में भारी गिरावट

हिसार का न्यूनतम तापमान गिरकर 5.6 डिग्री सेल्सियस (Temperature Drop) पर पहुंच गया, जिससे शीत लहर का प्रभाव और भी ज्यादा महसूस किया गया। हवाओं की गति ने लोगों की परेशानियों में इजाफा किया। सुबह धूप खिलने (Sunshine) के बाद, दोपहर में अचानक मौसम में बदलाव आया और वर्षा हुई, लेकिन दोपहर बाद मौसम फिर से साफ हो गया।

शीत लहर का येलो अलर्ट

मौसम विभाग ने विभिन्न जिलों में शीत लहर (Cold Wave Alert) के लिए येलो अलर्ट जारी किया है। इसमें शिमला, अंबाला, भिवानी, गुरुग्राम, हिसार, करनाल, कुरुक्षेत्र, रुक्षेत्र, नारनौल, पानीपत, रोहतक, और सिरसा शामिल हैं। इन जिलों में न्यूनतम और अधिकतम तापमान में भारी उतार-चढ़ाव (Temperature Fluctuation) देखने को मिल रहा है।

आगामी सप्ताह में मौसम का हाल

मौसम विभाग ने 13 फरवरी तक प्रदेश में मौसम साफ रहने (Clear Weather) का पूर्वानुमान जारी किया है। इस दौरान, प्रदेश के 12 क्षेत्रों में शीत लहर का प्रभाव देखा गया, जहाँ कुछ क्षेत्रों का तापमान माइनस (Minus Temperature) में चला गया। कुकमसेरी में तापमान सबसे कम -12 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जिससे ठंड में और वृद्धि हुई।