home page

USB चार्जर भी आपका बैंक खाता कर सकता है खाली, भूलकर भी मत कर देना ये गलती

टेक्नोलॉजी ने हमारी जिंदगियों को जितना सरल और सुविधाजनक बनाया है उतनी ही चुनौतियां और खतरे भी पैदा किए हैं। स्मार्टफोन और इंटरनेट के इस युग में साइबर अपराधी लगातार नए तरीके खोज रहे हैं लोगों को ठगने के लिए।
 | 
what-is-usb-charger-juice-jacking-scam-cert
   

टेक्नोलॉजी ने हमारी जिंदगियों को जितना सरल और सुविधाजनक बनाया है उतनी ही चुनौतियां और खतरे भी पैदा किए हैं। स्मार्टफोन और इंटरनेट के इस युग में साइबर अपराधी लगातार नए तरीके खोज रहे हैं लोगों को ठगने के लिए। इन्हीं में से एक है USB Charger Scam जिसे जूस जैकिंग भी कहा जाता है।

जूस जैकिंग का आविष्कार 

USB Charger Scam या जूस जैकिंग एक ऐसी तकनीक है जिसमें साइबर अपराधी चार्जिंग पोर्ट पर मैलवेयर वाले हार्डवेयर को इंस्टाल करते हैं। इस तकनीक का उपयोग करते हुए जब भी कोई व्यक्ति इन चार्जिंग पोर्ट्स का उपयोग अपने डिवाइस को चार्ज करने के लिए करता है तो उसके डिवाइस पर मौजूद संवेदनशील जानकारी साइबर अपराधियों के हाथ लग जाती है।

जूस जैकिंग से कैसे बचें

CERT-IN द्वारा जूस जैकिंग से बचाव के लिए कुछ महत्वपूर्ण सुझाव दिए गए हैं। जब भी आपको पब्लिक प्लेस पर अपने फोन को चार्ज करने की जरूरत हो तो इलेक्ट्रिकल वॉल आउटलेट का उपयोग करें। साथ ही चार्जिंग के दौरान अपने डिवाइस को स्विच ऑफ रखें। इससे आप अपने डाटा को चोरी होने से बचा सकते हैं।

साइबर अपराधी और उनके नए तरीके

जूस जैकिंग के जरिए साइबर अपराधी आपके डिवाइस से न केवल आपकी निजी जानकारी चुरा सकते हैं बल्कि आपके बैंक खाते को भी खाली कर सकते हैं। यह एक चेतावनी है कि हमें हर समय सतर्क रहने की जरूरत है और साइबर सुरक्षा के प्रति जागरूक रहना चाहिए।