home page

Uttrakhand Weather Forecast: उत्तराखंड के इन इलाकों में हो रही बर्फबारी से टुरिस्ट की हुई मौज, इन जगहों पर तेज बारिश का अलर्ट जारी

लगातार दूसरे दिन भी उत्तराखंड के चारधाम (Char Dham) समेत गढ़वाल (Garhwal) एवं कुमाऊं (Kumaon) मंडल की ऊंची चोटियों (High Peaks) पर बर्फबारी (Snowfall) का सिलसिला जारी रहा।
 | 
Uttarakhand Weather today

लगातार दूसरे दिन भी उत्तराखंड के चारधाम (Char Dham) समेत गढ़वाल (Garhwal) एवं कुमाऊं (Kumaon) मंडल की ऊंची चोटियों (High Peaks) पर बर्फबारी (Snowfall) का सिलसिला जारी रहा। इस अद्भुत प्राकृतिक घटना ने पूरे क्षेत्र को एक सफेद चादर में लपेट दिया है।

जिससे यहाँ का दृश्य और भी मनोरम (Scenic) हो गया है। निचले क्षेत्रों (Lower Areas) में भी सुबह से ही वर्षा (Rain) होती रही, जिससे कड़ाके की ठंड (Severe Cold) महसूस की जा रही है।

ठंड का प्रकोप: न्यूनतम तापमान में गिरावट

न्यूनतम तापमान (Minimum Temperature) में तीन से 17 डिग्री सेल्सियस (Celsius) तक की गिरावट दर्ज की गई है, जिससे सर्दी का प्रकोप और भी बढ़ गया है। प्रदेश के करीब 120 गांव (Villages) हिमच्छादित (Snow-Covered) होने से उनका मुख्य मार्गों से संपर्क (Connectivity) कट गया है। इसके अलावा, 50 से अधिक गांवों में विद्युत आपूर्ति (Electricity Supply) भी बाधित हो गई है।

केदारनाथ में बर्फबारी का रिकॉर्ड

विशेष रूप से, केदारनाथ धाम (Kedarnath Dham) में चार फीट बर्फबारी रिकार्ड की गई है। बदरीनाथ (Badrinath), गंगोत्री (Gangotri), यमुनोत्री (Yamunotri), तुंगनाथ (Tungnath), औली (Auli), हेमकुंड साहिब (Hemkund Sahib) समेत अन्य ऊंचाई वाले क्षेत्रों में भी बर्फबारी ने अपनी छटा बिखेरी है।

ऊंचाई वाले गांवों का जीवन

उत्तरकाशी जनपद (Uttarkashi District) की यमुना घाटी (Yamuna Valley) के शीतकालीन प्रवास (Winter Habitat) खरसाली, जानकीचट्टी, रानाचट्टी समेत अन्य गांव बर्फ से लकदक हो गए हैं। चमोली जिले (Chamoli District) में 66 गांव हिमच्छादित हैं, जहां सड़क मार्ग (Roads) बर्फ से ढक चुके हैं।

उच्च हिमालय में भारी हिमपात

कुमाऊं मंडल के उच्च हिमालय (High Himalayas) में भारी हिमपात हुआ है। मुनस्यारी (Munsiyari) के नया बस्ती, जोहार, व्यास और दारमा घाटी में हिमपात (Snowfall) का दृश्य देखने को मिला है। मौसम विज्ञान केंद्र (Meteorological Center) के निदेशक बिक्रम सिंह के अनुसार, सोमवार से मौसम में सुधार (Weather Improvement) के आसार हैं।

निष्कर्ष: प्रकृति के बीच जीवन

उत्तराखंड में बर्फबारी (Snowfall) ने न केवल पर्यटन (Tourism) को बढ़ावा दिया है बल्कि स्थानीय जीवन (Local Life) पर भी गहरा प्रभाव डाला है। इस बदलाव से निपटने के लिए स्थानीय लोगों की दृढ़ता और समाज के प्रति उनकी प्रतिबद्धता सराहनीय है।

बर्फबारी का यह मौसम उत्तराखंड की सुंदरता (Beauty) को और भी बढ़ा देता है, जिससे यहां का प्राकृतिक वातावरण (Natural Environment) और भी अधिक मनोहारी हो जाता है।