home page

Weather Forecast: अगले 48 घंटों में दिल्ली समेत इन राज्यों के मौसम में होगा बड़ा बदलाव, जाने आज कैसा रहेगा मौसम

रविवार को दिल्ली में हल्की बारिश ने मौसम का रुख बदल दिया। इस बारिश ने न केवल अधिकतम तापमान में कमी लाई, बल्कि न्यूनतम तापमान (Minimum Temperature) में चार डिग्री सेल्सियस की बढ़ोतरी भी दर्ज की गई।
 | 
Delhi Weather Update  5 february

रविवार को दिल्ली (Delhi) में हल्की बारिश (Light Rain) ने मौसम का रुख बदल दिया। इस बारिश ने न केवल अधिकतम तापमान (Maximum Temperature) में कमी लाई, बल्कि न्यूनतम तापमान (Minimum Temperature) में चार डिग्री सेल्सियस की बढ़ोतरी भी दर्ज की गई।

मौसम विभाग (Weather Department) के अनुसार, आने वाले दिनों में मौसम की गतिविधियों में और भी परिवर्तन हो सकते हैं। दिल्ली में मौसम के इस बदलते मिजाज से जहां एक ओर ठंड से कुछ राहत मिली है, वहीं प्रदूषण और यातायात में बाधा जैसी समस्याएं भी सामने आई हैं।

यह स्थिति दिल्लीवासियों के लिए एक चुनौती पेश करती है। आने वाले दिनों में मौसम की और भी गतिविधियां हो सकती हैं, इसलिए नागरिकों को सतर्क रहने और समय-समय पर मौसम विभाग के अपडेट्स का अनुसरण करने की आवश्यकता है।

आने वाले दिनों में मौसम की स्थिति

सोमवार को बादल छाए रहने (Cloudy Weather) की संभावना है, हालांकि बारिश (Rain) की संभावना कम है। सुबह के समय घना कोहरा (Dense Fog) भी देखने को मिल सकता है।

जिसके चलते मौसम विभाग ने येलो अलर्ट (Yellow Alert) जारी किया है। बुधवार से एक बार फिर ठंडक (Cold) बढ़ने की आशंका है, जो दिल्लीवासियों को सर्दी की एक और लहर से रूबरू करा सकती है।

बारिश और प्रदूषण की स्थिति

हालांकि, रविवार की बारिश ने वायु गुणवत्ता सूचकांक (Air Quality Index) में सुधार की उम्मीद जगाई है। दिल्ली की हवा की गुणवत्ता वर्तमान में खराब श्रेणी (Poor Category) में है, लेकिन सोमवार को हवा साफ रहने के आसार हैं। इस बदलाव से राजधानी के निवासियों को कुछ राहत मिल सकती है।

विमान और रेल यातायात पर असर

कोहरा (Fog) और खराब मौसम (Bad Weather) के चलते रविवार को दिल्ली एयरपोर्ट (Delhi Airport) से लगभग 80 विमानों की उड़ानें प्रभावित हुईं। इससे यात्रियों को असुविधा का सामना करना पड़ा।

यह स्थिति न केवल विमान सेवाओं पर, बल्कि रेल यातायात (Rail Traffic) पर भी असर डालती है, जिससे यात्रा करने वाले लोगों को अपनी योजनाओं में परिवर्तन करना पड़ सकता है।