home page

Whatsapp ने भारत में युजर्स पर लिया बड़ा ऐक्शन, रातोंरात बैन कर दिए 76 लाख लोग के Whatsapp नम्बर

आपकी जानकारी के लिए बता दें की इंस्टैंट मैसेजिंग प्लेटफॉर्म WhatsApp ने एक बार फिर से लाखों भारतीय यूजर्स के अकाउंट बैन किए हैं। Meta के इंस्टैंट मैसेजिंग प्लेटफॉर्म ने यह ऐक्शन फरवरी 2024 में लिया है।
 | 
WhatsApp Account ban
   

आपकी जानकारी के लिए बता दें की इंस्टैंट मैसेजिंग प्लेटफॉर्म WhatsApp ने एक बार फिर से लाखों भारतीय यूजर्स के अकाउंट बैन किए हैं। Meta के इंस्टैंट मैसेजिंग प्लेटफॉर्म ने यह ऐक्शन फरवरी 2024 में लिया है। इससे पहले कंपनी ने जनवरी में भी 67 लाख से ज्यादा अकाउंट भारत में बैन किए थे।

वाट्सऐप ने नए IT Rules 2021 के अनुसार अपनी कंप्लायेंस रिपोर्ट जारी की है, जिसमें भारतीय यूजर्स के अकाउंट्स पर लिए गए ऐक्शन की जानकारी शेयर की गई है। बड़े सोशल मीडिया और टेक कंपनी को हर महीने यह कंप्लायेंस रिपोर्ट जारी करनी पड़ती है।

वाट्सऐप के द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार 1 फरवरी 2024 से लेकर 29 फरवरी 2024 के बीच इंस्टैंट मैसेजिंग प्लेटफॉर्म ने 76.28 लाख भारतीय यूजर्स के अकाउंट पर यह कार्रवाई की गई है। बैन किए गए भारतीय यूजर्स के अकाउंट्स में से 14.24 लाख अकाउंट्स को कंपनी ने प्रोएक्टिवली बैन किया है। इन सभी अकाउंट्स को किसी भी यूजर ने रिपोर्ट नहीं किया था।

फरवरी में मिली रिकार्ड शिकायतें

वाट्सऐप ने अपने मंथली कंप्लायेंस रिपोर्ट में कहा कि कंपनी के भारत में 50 करोड़ से ज्यादा यूजर्स हैं। इन यूजर्स द्वारा फरवरी 2024 में रिकॉर्ड 16,618 शिकायतें की गई हैं, जिनमें से 22 मामलों में ऐक्शन लिया गया है। वाट्सऐप द्वारा मेंशन किए गए "Account actioned" का अर्थ है कि इन अकाउंट्स पर पहले भी बैन लगाया जा चुका है या फिर उन्हें रिस्टोर किया गया है।

भारत में 67.28 लाख अकाउंट्स बैन

कंपनी ने बताया कि हम अपने प्लेटफॉर्म पर मिले सभी ग्रीवांस का जबाब देते हैं, अगर वो डुप्लीकेट नहीं हो यानी उनके बारे में पहले रिपोर्ट नहीं किया गया हो। वाट्सऐप ने कहा कि 1 जनवरी से 31 जनवरी 2024 के बीच कंपनी ने 67.28 लाख अकाउंट्स को भारत में बैन किया था। इनमें से करीब 13.58 लाख अकाउंट्स को कंपनी ने बिना किसी यूजर द्वारा शिकायत करने से पहले ही बैन किया गया था।

लोकसभा चुनाव के लिए कंपनी ने की तैयारी

वाट्सऐप ने भारत में अभी आने वाले लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर भी तैयारी शुरू कर दी है। कंपनी अपने प्लेटफॉर्म पर अफवाहों और फर्जी कॉन्टेंट को हटाने को लेकर काम कर रही है। इतना ही नहीं बल्कि ऐसे अफवाहों और AI जेनरेटेड कॉन्टेंट को फैलने से रोकने के लिए हेल्पलाइन नंबर भी शुरू किया गया है। इसके अलावा कंपनी ने पिछले दिनों अपने ऐप से इंटरनेशनल UPI पेमेंट सर्विस की भी शुरुआत कर दी है।