home page

हवाई जहाज में लैंडिंग के वक्त ट्रे टेबल क्यों बंद करते हैं? एयरहोस्टेस ने बताई असली वजह तो हर यात्री को होनी चाहिए पता

फ्लाइट में यात्रा करना हमेशा एक अनोखा अनुभव होता है, खासकर जब हमें विमान कर्मियों द्वारा अनुपालन के लिए कुछ नियम सुनाए जाते हैं। ये नियम कई बार अजीब लग सकते हैं
 | 
why-tray-tables-closed-during-take-off-and-landing
   

फ्लाइट में यात्रा करना हमेशा एक अनोखा अनुभव होता है, खासकर जब हमें विमान कर्मियों द्वारा अनुपालन के लिए कुछ नियम सुनाए जाते हैं। ये नियम कई बार अजीब लग सकते हैं, परंतु इनके पीछे की वजहें हमें हमेशा स्पष्ट नहीं होती।

फ्लाइट अटेंडेंट्स की चुनौतियाँ

अमेरिका से हैना टेसन, एक फ्लाइट अटेंडेंट, ने हाल ही में बताया कि यात्रियों द्वारा नियमों का पालन न करना उन्हें कैसे परेशान करता है। उन्हें विशेष रूप से उस समय गुस्सा आता है जब टेकऑफ या लैंडिंग के समय ट्रे टेबल बंद करने और खिड़कियों के पर्दे उठाने या गिराने के निर्देशों का पालन नहीं किया जाता।

ट्रे टेबल बंद रखने का कारण

हैना ने बताया कि ट्रे टेबल को टेकऑफ और लैंडिंग के समय बंद रखने के पीछे का कारण यह है कि इन समयों में विमान में होने वाले अधिकतर हादसे होते हैं। अगर विमान में किसी प्रकार का झटका लगता है तो खुले ट्रे टेबल से यात्रियों को चोट लग सकती है। इसलिए यात्रा की सुरक्षा के लिए इसे बंद रखा जाता है।

खिड़कियों के पर्दे और सुरक्षा

इसी प्रकार, खिड़कियों के पर्दे उठाने या गिराने का निर्देश भी सुरक्षा कारणों से दिया जाता है। अगर विमान में कोई हादसा होता है, तो खिड़कियों से बाहर का दृश्य देख पाना और स्थिति का आंकलन कर पाना संभव होता है।

फ्लाइट अटेंडेंट्स की विविध जिम्मेदारियां

हैना ने यह भी स्पष्ट किया कि फ्लाइट अटेंडेंट्स की जिम्मेदारियां केवल खाना परोसने तक सीमित नहीं होती। वे यात्रा की सुरक्षा के लिए हमेशा तत्पर रहते हैं। इसमें विमान के उड़ान से पहले सुरक्षा उपकरणों की जांच, आपात स्थितियों के लिए तैयारी और यात्रियों के व्यवहार पर नजर रखना शामिल है।