home page

हवाई जहाज में 13 नम्बर वाली सीटों की लाइन क्यों नही होती, फ्लाइट अटेंडेंट ने बताया असली राज

हवाई जहाज की यात्रा करते समय अक्सर हमारे मन में कई सवाल उठते हैं, जिनमें से कुछ के जवाब हम आसानी से ढूंढ लेते हैं वहीं कुछ प्रश्न अनुत्तरित रह जाते हैं। ऐसा ही एक अनोखा सवाल है "हवाई जहाज में 13वीं पंक्ति क्यों नहीं होती?"
 | 
why-13th-row-is-missing-on-airplanes-flight
   

हवाई जहाज की यात्रा करते समय अक्सर हमारे मन में कई सवाल उठते हैं, जिनमें से कुछ के जवाब हम आसानी से ढूंढ लेते हैं वहीं कुछ प्रश्न अनुत्तरित रह जाते हैं। ऐसा ही एक अनोखा सवाल है "हवाई जहाज में 13वीं पंक्ति क्यों नहीं होती?"

13वीं पंक्ति का अभाव

अमेरिका की एक फ्लाइट अटेंडेंट हेनी लिम ने इस रहस्य पर प्रकाश डालते हुए बताया कि विश्व के कई हिस्सों में 13 नंबर को अशुभ माना जाता है। इसे दुर्भाग्य और अपशकुन से जोड़ा जाता है। एयरलाइंस कंपनियों को डर रहता है कि यदि 13वीं पंक्ति होगी तो कुछ यात्री उस पर बैठने से इनकार कर सकते हैं।

मानसिक डर का परिचय

लिम ने आगे कहा कि यह एक प्रकार का मानसिक डर है जिसे वैज्ञानिक भाषा में 'ट्रिस्काइडेकाफोबिया' कहा जाता है। यह डर इतना प्रबल है कि कई एयरलाइन्स ने इसे अपनी सीटिंग व्यवस्था से हटा दिया है।

धार्मिक और सांस्कृतिक प्रभाव

ईसाई धर्म में 13 नंबर के अशुभ होने की मान्यता इस तथ्य से जुड़ी है कि ईसा मसीह के अंतिम भोज में जूडस समेत 13 लोग उपस्थित थे जिसके बाद ईसा की मृत्यु हुई। इसी तरह इटली में 17 नंबर और चीन में 14 नंबर को अशुभ माना जाता है जिसके पीछे भी खास मान्यताएं हैं।

यह भी पढ़ें; आम्रपाली के हुस्न को देख निरहुआ ने खटिया पर शुरू कर दिया रोमांस, छत पर बैठकर पड़ोसियों ने जमकर लिया मजा

एयरलाइन्स का सम्मान और समझौता

कुछ एयरलाइन्स, जैसे कि एयर फ्रांस, इबेरिया, और रयानएयर, में 13 नंबर की पंक्ति नहीं होती। यह विभिन्न संस्कृतियों और मान्यताओं के प्रति सम्मान दिखाने का एक तरीका है। रयानएयर के प्रवक्ता ने कहा कि इसे अमेरिकी संस्कृति के प्रति सम्मान के रूप में देखा जाता है।