home page

Wine Beer: बोतल का ढक्कन खुलने के कितने टाइम बाद एक्सपायर हो जाती है शराब, 99 प्रतिशत लोगों को नही होती इसकी जानकारी

शराब और अन्य मद्य पेयों की एक्सपायरी डेट के विषय में बात करें तो यह उस पेय के प्रकार पर निर्भर करता है। स्पिरिट्स जैसे कि जिन, वोदका, व्हिस्की और रम जो कि उच्च अल्कोहल सामग्री रखते हैं।
 | 
Alcohal Expire Time
   
WhatsApp Group Join Now

शराब और अन्य मद्य पेयों की एक्सपायरी डेट के विषय में बात करें तो यह उस पेय के प्रकार पर निर्भर करता है। स्पिरिट्स जैसे कि जिन, वोदका, व्हिस्की और रम जो कि उच्च अल्कोहल सामग्री रखते हैं। वे खुलने के बाद भी वर्षों तक अच्छी स्थिति में रह सकते हैं। इनमें बैक्टीरियल ग्रोथ होने की संभावना नगण्य होती है। इसलिए इन्हें 'नॉन-पेरिशेबल' माना जाता है।

शराब और अन्य मद्य पेयों के संग्रहण और उपयोग से संबंधित ये जानकारियां न केवल उपभोक्ताओं को उनकी पसंदीदा ड्रिंक्स का अधिकतम आनंद लेने में मदद करती हैं। बल्कि इन्हें सही तरीके से संग्रहित करने की जानकारी भी प्रदान करती हैं। इससे शराब का उपभोग सुरक्षित और संतोषजनक बनता है।

ये भी पढ़िए :- कीबोर्ड पर F और J के ऊपर क्यों बनी होती है छोटी सी लाइन, वजह तो 98 प्रतिशत लोगो को नहीं होती पता

वाइन और बियर का शेल्फ लाइफ

दूसरी ओर वाइन और बियर जैसे पेय पदार्थों में अल्कोहल की मात्रा कम होती है और पानी की अधिक जिससे ये जल्दी खराब हो सकते हैं। वाइन खासकर जब खोली जाती है, तो हवा के संपर्क में आने से इसके ऑक्सीडाइज होने की प्रक्रिया तेज हो जाती है।

जिससे इसका स्वाद और गुणवत्ता प्रभावित होती है। बियर में अल्कोहल की मात्रा और भी कम होती है और यह खुलने के कुछ ही दिनों में अपनी ताजगी खो देती है।

Alcohal Expire Time (1)

शराब खोलने के बाद की देखभाल

खोलने के बाद शराब की देखभाल और उपयोग के लिए विशेषज्ञों की राय है कि स्पिरिट्स को अच्छी तरह से बंद करके और ठंडी जगह पर रखने से यह लंबे समय तक अपनी गुणवत्ता बनाए रख सकती हैं। वाइन को एक बार खोलने के बाद जल्दी से उपभोग कर लेना चाहिए।

विशेषकर सफेद वाइन को जिसे फ्रिज में ठंडा करके रखना चाहिए। बियर को खोलने के बाद तुरंत पीना बेहतर होता है। क्योंकि इसकी ताजगी बहुत जल्दी खोती है।

ये भी पढ़िए :- ये स्पेशल कार्ड बनवा लिया तो 5 लाख रुपए तक का इलाज होगा मुफ्त, बस इन डॉक्युमेंट की पड़ेगी जरुरत

पुरानी वाइन की कीमतें क्यों अधिक होती हैं?

पुरानी वाइन की अधिक कीमतों का मुख्य कारण इसकी एजिंग प्रक्रिया और दुर्लभता है। एजिंग व्हिस्की और वाइन विशेष रूप से नियंत्रित परिस्थितियों में और कभी-कभी लकड़ी के बैरल में वर्षों तक संग्रहित की जाती है। जिससे इसके स्वाद में विशेष विकास होता है जो बाजार में इसकी ऊँची माँग को जन्म देता है।