home page

चाणक्य नीति: देश के नौजवानो में होने चाहिए ये सभी गुण तो होगी खूब तरक़्क़ी, जाने क्या कहती है चाणक्य नीति

युवा शक्ति ही देश का निर्माण और विनाश करती है। जिस देश के युवाओं को गुमराह किया गया है, वह देश को तबाह करने में ज्यादा समय नहीं लगाएगा। आज के युवा संघर्ष कर रहे हैं क्योंकि वे विदेशी विचारधाराओं और फैशन से प्रभावित हैं। चाणक्य का मानना ​​है कि देश को सुंदर बनाने, प्रबंधित करने और सुंदर बनाने के लिए युवाओं की शक्ति आवश्यक है। ऐसे में सफल होने के लिए युवाओं में 10 गुण होने चाहिए।
 | 
चाणक्य के अनुसार देश के युवाओं में होना चाहिए 10 खूबियां

Chanakya Niti :  युवा शक्ति ही देश का निर्माण और विनाश करती है। जिस देश के युवाओं को गुमराह किया गया है, वह देश को तबाह करने में ज्यादा समय नहीं लगाएगा। आज के युवा संघर्ष कर रहे हैं क्योंकि वे विदेशी विचारधाराओं और फैशन से प्रभावित हैं। चाणक्य का मानना ​​है कि देश को सुंदर बनाने, प्रबंधित करने और सुंदर बनाने के लिए युवाओं की शक्ति आवश्यक है। ऐसे में सफल होने के लिए युवाओं में 10 गुण होने चाहिए।

1. वासना : युवाओं को कड़ी मेहनत करने से बचना चाहिए क्योंकि इससे उनकी प्रगति में बाधा आ सकती है और जीवन बर्बाद हो सकता है। इस चीज की उपस्थिति का जीवन पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है और यह वर्तमान और भविष्य को भी बर्बाद कर देता है। युवाओं का जीवन आत्म-त्याग का जीवन होना चाहिए।

2. गुस्सा : गुस्सा इंसान के लिए सबसे बड़ी समस्या है। यह स्पष्ट रूप से सोचने की क्षमता पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है। सोचने की शक्ति चली गई है। ऐसे में निर्णय लेने की शक्ति भी समाप्त हो जाती है। क्रोध को अपने ऊपर हावी न होने दें। इसका इस्तेमाल करना याद रखें।

3. सुस्ती : चाणक्य का मानना ​​है कि आलसी या निष्क्रिय रहना सफलता में बाधक है। काम के मामले में आलस्य न करें। यह केवल समय बर्बाद करेगा और आपको अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने से रोकेगा। आलस्य से बचने और अपनी सफलता के रास्ते में आने से बचने के लिए युवाओं को लगन से काम करना चाहिए और सक्रिय रहना चाहिए।

4. शराब, सिगरेट और तंबाकू : चाणक्य कहते हैं कि नशा चाहे किसी भी चीज का हो यह युवाओं के शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के बर्बाद कर सकता है। नशे की लत युवाओं को गलत काम करने को मजबूर कर देती है। और वे अपने साथ अपने संबंधियों को भी मुश्किल में डाल देते हैं। चाणक्य कहते हैं कि इनसे दूर रहें।

5. बुरे लोगों की संगत : ऐसे दोस्त को छोड़ देना बेहतर है जो आपके सामने धीरे से बात करता है और आपकी पीठ पीछे आपका काम बिगाड़ देता है। चाणक्य कहते हैं कि वह मित्र उस बर्तन की तरह होता है जिसका ऊपरी भाग दूध से ढका होता है लेकिन अंदर जहर भरा होता है। चाणक्य का मानना ​​है कि संगति मनुष्य के जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। जबकि अच्छे लोगों की एक कंपनी आपको सफलता की राह पर ले जाने में मदद कर सकती है, वहीं बुरे लोगों के आसपास बैठने से आपका जीवन दर्द से भर सकता है। इसलिए प्रत्येक व्यक्ति को यह सोचना चाहिए कि सर्वोत्तम निर्णय लेने के लिए उसके साथ कौन से विचार संगत हैं।

54

6. लापरवाही :जुनून के दौरान होश खोने से कुछ खो सकता है। काम करते समय कोई गलती न करें। जीवन में कभी-कभी लापरवाही नियंत्रण से बाहर हो सकती है, जिससे समस्याएं हो सकती हैं। इसका खामियाजा उन्हें बाद में भुगतना पड़ता है। चाणक्य के अनुसार किसी भी काम को शुरू करने से पहले किसी ऐसे व्यक्ति से सलाह लेना हमेशा जरूरी होता है जिसके पास अनुभव हो।

7. लोभ : कहते हैं कि लालच बुरी बला। चाणक्य कहते हैं कि युवाओं को लालची या लोभी बनने से बचना चाहिए। यह आदत आपके लक्ष्य में बाधा उत्पन्न कर सकती है।

8. सज धज : श्रृंगार युवाओं को भटकाता है। साफ सुधरे बने रहना अच्छी बात है लेकिन हर समय साज-सज्जा, श्रृंगार करने वाले युवाओं का मन अध्ययन से विलग होकर अन्य कहीं भटकता रहता है। अत: युवाओं को इससे दूर रहना चाहिए।

9. आमोद प्रमोद, मनोविनोद : मनोरंजन हमारे मन को हल्का करता है, लेकिन अनावश्यक और अति मनोरंजन नुकसानदायक है। मनोरंजन उतना ही करें जितना जरूरी हो। अधिक मनोरंजन से युवा शक्ति का ह्रास होता है। दिनभर वॉट्सप, फेसबुक, इंटरनेट, फिल्म, टिवी आदि में ही रमे रहने से जरूरी कार्य और अवसर हाथ से निकल जाते हैं।

10. टाइम : चाणक्य नीति की सलाह है कि युवा समय के मूल्य की सराहना करें। जीवन में लक्ष्य को प्राप्त करने में वही लोग सफल होते हैं जो समय के महत्व को समझते हैं। यह केवल वही हैं जो इस क्षण का लाभ उठाने के इच्छुक हैं जो अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने में सक्षम हैं। इसलिए समय पर रहना और अपना काम समय पर पूरा करना महत्वपूर्ण है, ताकि आप विलंब न करें।

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. CanyonSpecialtyFoods.com इसकी पुष्टि नहीं करता है.)