home page

Income Tax Filing: आयकर व‍िभाग ने री फाइल‍िंग में क‍िया छोटा सा बदलाव, सरकार को करीब 400 करोड़ रुपये का हुआ एक्‍सट्रा बेन‍िफ‍िट

अगर आप इनकम टैक्स रिटर्न (आईटीआर) फाइल कर रहे हैं तो आपसे कुछ गलतियां हो सकती हैं। पिछले दिनों सरकार ने एक प्रोग्राम शुरू किया था, जहां लोग अपने आईटीआर (इनकम टैक्स रिटर्न) की जानकारी अपडेट कर सकते थे। चौंकाने वाले नतीजों से सरकार को 400 करोड़ रुपए का फायदा हुआ है। सरकार के पास एक ऐसी प्रणाली है जहां लोग अपने टैक्स रिटर्न को अपडेट कर सकते हैं।
 | 
Income Tax Return

Income Tax Return:  अगर आप इनकम टैक्स रिटर्न (आईटीआर) फाइल कर रहे हैं तो आपसे कुछ गलतियां हो सकती हैं। पिछले दिनों सरकार ने एक प्रोग्राम शुरू किया था, जहां लोग अपने आईटीआर (इनकम टैक्स रिटर्न) की जानकारी अपडेट कर सकते थे। चौंकाने वाले नतीजों से सरकार को 400 करोड़ रुपए का फायदा हुआ है। सरकार के पास एक ऐसी प्रणाली है जहां लोग अपने टैक्स रिटर्न को अपडेट कर सकते हैं।

5 लाख री फाइल‍िंग हुईं

नया नियम लागू होने के बाद से आयकर विभाग को 5 लाख नई फाइलिंग मिली हैं। इस छोटे से कदम से सरकार को करीब 400 करोड़ रुपए का अतिरिक्त फायदा हुआ है। एक शीर्ष सरकारी अधिकारी ने इस बारे में जानकारी दी। एक नया नियम जोड़ा गया है जो टैक्स रिटर्न फाइल करने के तरीके को बदल देगा। अगर आप अपना इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) फाइल करते हैं, तो जरूरत पड़ने पर इसे अपडेट करने के लिए आपके पास 2 साल का समय होता है।

मई में नया फॉर्म लाया गया

एक नया फॉर्म है जिसका इस्तेमाल आप अपना इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने के लिए कर सकते हैं। यह फॉर्म मई में पेश किया गया था। सरकारी अधिकारी ने कहा कि अब तक 5 लाख लोगों ने अपना अपडेटेड टैक्स रिटर्न जमा किया है और लगभग 400 करोड़ रुपये टैक्स के रूप में चुकाए गए हैं। उन्होंने कहा कि कंपनियां अपना अपडेटेड इनकम टैक्स रिटर्न भी फाइल कर रही हैं। एक कंपनी ने अपना टैक्स रिटर्न अपडेट किया है और एक करोड़ रुपए जमा किए हैं।

सरकार ने अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेले 2022 में करदाताओं के लाउंज नामक एक विशेष क्षेत्र की स्थापना की है ताकि उन लोगों के लिए आसान बनाया जा सके जिन्हें करों का भुगतान करना पड़ता है। इस साल इंडिया इंटरनेशनल ट्रेड फेयर की थीम 'वोकल फॉर लोकल' है। इसका मतलब है कि हमें उन व्यवसायों और उत्पादों का समर्थन करना चाहिए जो भारत में बने हैं। सरकार उन व्यवसायों के लिए कर छूट प्रदान करती है जो अभी शुरू हो रहे हैं, साथ ही कृषि से संबंधित व्यवसायों के लिए भी।