home page

महिला के करेक्टर को लेकर विदुर ने किए है चौंकाने वाले दावे, खुद आज़मा सकते है

संभव है कि महाभारत में महिलाओं के बारे में लिखने वाले वही महात्मा विदुर ने भी इस विषय पर अपने विचार रखे हों। चाणक्य ने नारी के मूल्यों, सम्मान, चरित्र और अन्य बिंदुओं पर बहुत प्रकाश डाला है। वहीं, महान दार्शनिक विदुर ने कई अलग-अलग तरीकों से महिलाओं के फायदे और नुकसान के बारे में बताया है।
 | 
Vidur Niti On Woman

संभव है कि महाभारत में महिलाओं के बारे में लिखने वाले वही महात्मा विदुर ने भी इस विषय पर अपने विचार रखे हों। चाणक्य ने नारी के मूल्यों, सम्मान, चरित्र और अन्य बिंदुओं पर बहुत प्रकाश डाला है। वहीं, महान दार्शनिक विदुर ने कई अलग-अलग तरीकों से महिलाओं के फायदे और नुकसान के बारे में बताया है।

महान दार्शनिक विदुर ने कहा है कि नारी के बिना इस सृष्टि और जीवन की कल्पना ही नहीं की जा सकती। महात्मा विदुर ने यह भी कहा कि महिलाएं पुरुषों की तुलना में अधिक खुश हैं, यह जानते हुए कि ऐसा है। विदुर ने महिलाओं की खुशी के बारे में क्या कहा है? हम जानते हैं कि महिलाएं आमतौर पर पुरुषों की तुलना में अधिक खुश रहती हैं। विदुर के अनुसार सनातन धर्म में स्त्रियों को देवी कहा गया है। जहां नारी का सम्मान होता है वहां भगवान की उपस्थिति होती है।

महिलाओं का स्वभाव

महात्मा विदुर ने महिलाओं के सौभाग्य और भाग्य के लिए उनकी प्रशंसा की है। विदुर कहते हैं कि प्रकृति ने ही स्त्री को अपने स्वभाव के रूप में कई वरदान दिए हैं। महिलाएं दयालु, विनम्र, महान और बुद्धिमान लोग हैं। एक ऐसा घर है जहां महिलाओं को बुद्धिमान माना जाता है। घनिष्ठ पारिवारिक संबंधों के कारण उस घर में सुख रहता है। उस घर में किसी चीज की कमी नहीं है।

घर की लक्ष्मी

शास्त्रों में स्त्रियों को प्राय: लक्ष्मी कहा गया है। यह सम्मान और सम्मान का प्रतीक है। शास्त्रों में लिखी बातों के मायने समय के साथ बदल सकते हैं, लेकिन ये बातें कभी झूठी नहीं होतीं। विदुर कहते हैं कि स्त्री घर की लक्ष्मी होती है। पूर्व में हमारे पूर्वज आमतौर पर स्त्री को ही धन या धन देते थे। इसलिए महिलाओं को घर की लक्ष्मी माना जाता है।

महिलाएं पूजनीय होती हैं

महात्मा विदुर ने कहा था कि जब घर में नारी का सम्मान होता है तो देवता भी प्रसन्न होते हैं। जिस घर में महिलाओं को वह सम्मान नहीं मिलता, जिसकी वे हकदार होती हैं, वहां देवता भी दुखी रहते हैं। इसलिए घर में महिलाओं को हमेशा वह सम्मान देना चाहिए जिसकी वे हकदार हैं। महिलाओं को महत्व देने वाले परिवार का सम्मान होगा। परिवार में नए जोड़े से परिवार उतना ही खुश होगा।

सुख-समृद्धि लाती है महिला

जीवन में तरक्की पाने और सुख-समृद्धि बनाए रखने के लिए महिलाओं का सम्मान और सम्मान करना जरूरी है। एक पुरुष का जीवन आमतौर पर एक महिला की संगति में व्यतीत होता है। विदुर ने कहा कि किसी भी पुरुष की सफलता में महिलाओं की अहम भूमिका होती है। सफल पुरुषों को अक्सर महिलाओं के बलिदान की आवश्यकता होती है। उन्होंने आगे कहा कि स्त्री के बिना मनुष्य का अस्तित्व एक कल्पना मात्र है।