home page

Chanakya Niti: पैसे और चाणक्य नीति में से चुनना पड़े तो क्या है सही, जाने समझदार व्यक्ति क्या चुनेगा

आचार्य चाणक्य, एक कुशल कूटनीतिज्ञ, रणनीतिकार और अर्थशास्त्री, ने अपनी नीति शास्त्र में मनुष्य जीवन से जुड़े कई मुद्दों पर चर्चा की है।
 | 
पैसे और चाणक्य नीति में से चुनना पड़े तो क्या है सही

आचार्य चाणक्य, एक कुशल कूटनीतिज्ञ, रणनीतिकार और अर्थशास्त्री, ने अपनी नीति शास्त्र में मनुष्य जीवन से जुड़े कई मुद्दों पर चर्चा की है। अपनी नीति शास्त्र ने सफल दांपत्य जीवन के लिए कई सुझाव दिए हैं। चाणक्य नीति में पति-पत्नी को रिश्ते में मधुरता बनाए रखने के लिए क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए भी बताया गया है।

उन्होंने व्यक्ति के स्वभाव और गुणों के बारे में भी बहुत कुछ बताया है। साथ ही, चाणक्य ने अपनी नीति शास्त्र में महिलाओं के कुछ स्वभावों का उल्लेख किया है। पहले मौर्य सम्राट चंद्रगुप्त ने चाणक्य की सहायता ली थी। मौर्य साम्राज्य की स्थापना में उनकी भूमिका का पूरा श्रेय दिया जाता है। आइए इस श्लोक से जानते हैं कि आचार्य चाणक्य ने कहा कि व्यक्ति को धन या पत्नी में से किसका चुनाव करना चाहिए।

श्लोक 

मूर्खशिष्योपदेशेन दुष्टस्त्रीभरणेन च।
दुःखितैः सम्प्रयोगेण पण्डितोऽप्यंवसीदति।।

चाणक्य नीति के प्रथम अध्याय का चतुर्थ श्लोक उपरोक्त है। इसमें आचार्य चाणक्य कहते हैं कि जो यदि शिष्य मूर्ख हो तो उसे उपदेश देना व्यर्थ है, यदि स्त्री दुष्ट हो तो उसका पालन पोषण करना व्यर्थ है। आप कितने भी बुद्धिमान हैं अगर आपका धन नष्ट हो गया है या आप किसी दुखी व्यक्ति के साथ तालमेल बना रहे हैं आपको परेशान होना ही होगा।

दुष्टा भार्या शठं मित्रं भृत्यश्चोत्तरदायकः।
ससर्पे च गृहे वासो मृत्युरेव न संशयः ।।

प्रथम अध्याय का पंचम श्लोक उपरोक है। श्लोक में कहा गया है कि बहुत बोलने वाली, दुराचारिणी स्त्री, धूर्त, दुष्ट स्वभाव के नौकर, ऐसे घर में रहना जहां सांप हो सकता है, और कठोर वचन वाले दोस्त मृत्यु के समान हैं।चाणक्य कहते हैं कि जिस घर में स्त्रियां चरित्रहीन (महिलाएं चरित्रहीन) होती हैं, वहां घर के मुखिया की स्थिति एक मृतक की स्थिति के समान होती है।

दरअसल, घर का मालिक कुढ़ता रहता है और कुछ नहीं कर पाता। इसी तरह, अगर आपका एक विशिष्ट मित्र है, लेकिन वह अच्छा नहीं है या कुटिल है, तो उस पर कभी विश्वास मत करो। ऐसा दोस्त धोखा दे सकता है। यदि आपके अधीनस्थ कोई कर्मचारी या नौकर आपको उलट कर जवाब दे तो वे आपको नुकसान पहुंचा सकते हैं।  यदि आप एक सांप के साथ रहते हैं, तो आपको सर्पदंश का शिकार होने की संभावना है।