home page

घोड़ा कभी बैठता नही तो वो अपनी नींद कैसे पूरी करता है? कारण भी ऐसा की सुनकर नही होगा यकीन

क्या आपने घोड़े को सोते देखा है? शायद आपने देखा होगा। तुमने घोड़ों को सोते भी नहीं देखा होगा। तो क्या घोड़े खड़े होकर सोते हैं या नहीं? क्या आपने कभी सोचा है कि घोड़ों के हमेशा खड़े रहने का क्या सीन है।

 | 
Intresting Fact About Horse

क्या आपने घोड़े को सोते देखा है? शायद आपने देखा होगा। तुमने घोड़ों को सोते भी नहीं देखा होगा। तो क्या घोड़े खड़े होकर सोते हैं या नहीं? क्या आपने कभी सोचा है कि घोड़ों के हमेशा खड़े रहने का क्या सीन है।

किस वजह से वे हमेशा खड़े दिखते हैं? तो अब आप इन सभी सवालों के जवाब जानते हैं, और आपको बताते हैं कि घोड़े हमेशा खड़े क्यों रहते हैं, वो किस तरह से रेस्ट करते हैं या सोते हैं...

क्या घोड़े हमेशा खड़े ही रहते हैं

पहले, घोड़े हमेशा खड़े रहने की बात सही है। यह कहना असंभव है कि घोड़े बैठ नहीं सकते। घोड़े बैठ भी सकते हैं, लेकिन वे खड़े रहते हैं और अधिकांश समय खड़े रहते हैं।

विशेष रूप से, घोड़े खड़े रहते हुए थकते नहीं हैं और नींद आने पर खड़े खड़े सो जाते हैं। ऐसे में उन्हें सोने की जरूरत नहीं होती। ये भी कहा जाता है कि घोड़े को बैठाने के लिए एक खास प्रशिक्षण की जरूरत होती है। 

क्या खड़े खड़े ही अपनी नींद पूरी करते हैं

ये तो सही बात है कि जब कोई लगातार मेहनत करता है तो उसे आराम की जरुरत होती है और घोड़ों के साथ भी ऐसा है। घोड़े भी समय आने पर सोते हैं और अपनी नींद पूरी करते हैं। मगर ये बात सच है कि वो खड़े खड़े नींद पूरी कर लेते हैं।

उनके शरीर की बनावट ऐसी ही होती है कि उन्हें खड़े खड़े सोने से कोई दिक्कत नहीं होती है और ना ही वो खड़े खड़े सोने से कभी गिरते हैं। वहीं, खड़े खड़े अपनी नींद पूरी कर लेते हैं। 

मगर ऐसा होता क्यों है

अब प्रश्न उठता है कि घोड़े का शरीर क्या करता है कि उन्हें बैठने की जरूरत नहीं होती? इसके कई कारण बताए जाते हैं। स्ट्रेट बैक, यानी सीधी कमर, एक घोड़े को बैठने या खड़े होने में मुश्किल बनाती हैं। यही कारण है कि घोड़ा हमेशा खड़ा रहना ही सही मानता है।

घोड़ा भी शिकार से डरने वाले जानवरों की श्रेणी में आता है। ऐसे में, अगर कोई घोड़ा बैठा रहता है और शिकारी आता है, तो घोड़ा जल्दी से उठकर भाग नहीं सकता। वह हर समय खड़ा रहता है और जरूरत पड़ने पर आसानी से भाग जाता है। 

इसके साथ ही जब घोड़ा खड़ा रहता है तो वो वह अपने घुटनों को लॉक कर लेता है और आराम से सो जाता है और घोड़े की मसल्स भी कुछ अलग तरह से डिजाइन होती है, जिस वजह से उसे थकान नहीं होती है। ज्यादा देर खड़े रहने के बाद भी घोड़े को कोई दिक्कत नहीं होती है।