home page

दिनभर कूलर-पंखा, टीवी-फ्रिज चलते है तो कितनी खाते हैं बिजली, जाने कितने रूपये आएगा महीने का बिल

भारतीय घरों में गर्मियों के मौसम में बिजली के बिल में वृद्धि एक आम समस्या है। जैसे-जैसे तापमान बढ़ता है वैसे-वैसे एयर कंडीशनर कूलर और अन्य उपकरणों का उपयोग भी बढ़ जाता है जिससे बिजली की खपत में स्पष्ट रूप...
 | 
Cooler-fan-tv-fridge-how-much-consuming-electricity
   
WhatsApp Group Join Now

भारतीय घरों में गर्मियों के मौसम में बिजली के बिल में वृद्धि एक आम समस्या है। जैसे-जैसे तापमान बढ़ता है वैसे-वैसे एयर कंडीशनर कूलर और अन्य उपकरणों का उपयोग भी बढ़ जाता है जिससे बिजली की खपत में स्पष्ट रूप से उछाल आता है।

आमतौर पर उपभोक्ताओं को इस बढ़ी हुई खपत का पता तब चलता है जब मासिक बिजली बिल उनके हाथ में आता है। इन तरीकों को अपनाकर न केवल आप अपने बिजली के बिल में कमी ला सकते हैं बल्कि पर्यावरण को भी बचाने में योगदान दे सकते हैं।

ये भी पढ़िए :- गलत अकाउंट में पैसे भेज दिए हो तो कैसे मिलेंगे वापस, घबराने की जगह जल्दी से कर ले ये काम

बिजली की खपत की माप और उसका प्रबंधन

बिजली के उपकरणों की खपत को समझने के लिए सबसे पहले यह जानना जरूरी है कि एक यूनिट बिजली का मतलब 1 किलोवाट प्रति घंटा होता है। इसका मतलब है कि अगर कोई उपकरण 1000 वाट का है।

वह एक घंटे तक चलता है तो उसने एक यूनिट बिजली की खपत की है। इसे ध्यान में रखते हुए घर में उपयोग होने वाले विभिन्न उपकरणों की खपत का अनुमान लगाना संभव है।

विभिन्न उपकरणों की बिजली खपत

आइए एक उदाहरण के माध्यम से समझते हैं: यदि आपके घर में तीन 9 वॉट के बल्ब दिन में 10 घंटे चलते हैं तो वे प्रतिदिन 270 वॉट बिजली की खपत करेंगे। इसी प्रकार यदि चार 60 वॉट के पंखे 12 घंटे चलते हैं तो वे एक दिन में लगभग 2880 वॉट बिजली खर्च करेंगे। यह जानकारी आपको यह समझने में मदद करेगी कि कौन सा उपकरण कितनी बिजली खा रहा है।

AC-freeze-price-rise

बिजली बिल का कैलकुलेशन कैसे करें

अपने बिजली के बिल को समझने के लिए आपको अपने बिजली मीटर की रीडिंग लेनी होगी। बिजली के बिल में आपके द्वारा इस्तेमाल की गई कुल यूनिट्स और प्रति यूनिट दर के आधार पर आपका कुल खर्च निकाला जाता है।

यदि आप प्रतिदिन की खपत को जानते हैं और प्रति यूनिट दर मालूम है तो आप अपने मासिक खर्च का अनुमान लगा सकते हैं।

  • अब अगर मान लीजिए कोई एप्लायंस 100 वॉट का है। वो एक दिन में 4 घंटे चलता है तो खर्च हुई बिजली: 100 Watt X 4 hour = 400 Watt प्रति Hour।
  • मतलब 0.4 यूनिट बिजली खर्च हुई।
  • यही एप्लायंस महीने में 12 (0.4 x 30) यूनिट बिजली खर्च करेगा।
  • यदि आपके एरिया में प्रति यूनिट बिजली का रेट 8 रुपये है और उस पर्टिकुलर अप्लायंस को यूज करने का महीने का खर्च 96 रुपए होगा।

ये भी पढ़िए :- बिजली के तीन पिन वाले प्लग में क्यों लगा होता है खास कट, असली वजह भी है बेहद मजेदार

बिजली खर्च में बचत के तरीके

बिजली बचत के लिए कुछ सरल उपाय अपना सकते हैं जैसे कि ऊर्जा कुशल उपकरणों का उपयोग करना उपकरणों को तब तक न चलाना जब तक आवश्यक न हो और अधिक प्राकृतिक प्रकाश का उपयोग करना। इसके अलावा बिजली के उपकरणों को समय-समय पर बंद कर देना चाहिए जब उनकी आवश्यकता न हो।